पहला उत्तरदाता अधिकारी पीसीआर वैन  अधिकारी या न्यायिक पुलिस स्टेशन का आपातकालीन अधिकारी हो सकता है। वह अक्सर अपराध के दृश्य पर आने वाला होता है और इस बात की जागरूकता होनी चाहिए कि तकनीक अपराध को कैसे प्रभावित करती है, डिजिटल साक्ष्य क्या हैं और इसे कैसे संभाला जाना चाहिए।

उद्देश्य

प्रत्युतकर्ता / रेस्पॉन्डर घटना स्थल पर पहुंचने वाला पहला पुलिसकर्मी होता है। प्रत्युत कर्ता को यहज्ञान होना चाहिए की क्राइम प्रौद्योगिकी अपराध को कैसे प्रभावित करता है, डिजिटल साक्ष्य क्या है और इन्हे कैसे संभाला जाना चाहिए। प्रत्युतकर्ता के लिए बुनियादी स्तर के पाठ्यक्रम कानून प्रवर्तन में मदद करेगा ।

इस पाठ्यक्रम के माद्यम से एजेंसियों को निम्नलिखित विषयों की समझ प्राप्त होगीाः

    1. पिछले कुछ वर्षों में विभिन्न प्रकार के साइबर अपराध और इन का विकास।
    2. कंप्यूटर, मोबाइल और कंप्यूटर जैसी विभिन्न तकनी कों एवं उनके हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर पार्ट्स एवं नेटवर्क की समझ।
    3. डिजिटल सबूत का विश्लेषण और डिजिटल साक्ष्य प्राप्त करने की प्रक्रिया।
    4. इंसिडेंट रिस्पांस प्रक्रिया, डिजिटल साक्ष्य की पहचान, सग्रहण, संरक्षण एवं चेनऑफ़ कस्टडी।
    5. डिजिटल अपराधदृश्य प्रबंधन जिस में साक्ष्य की खोज और जब्ती शामिल है।
    6. डेटा टैंपरिंग रोकने के लिए साक्ष्य की प्रामाणिकता को संरक्षित करने की प्रक्रिया।
    7. डिजिटल साक्ष्यों के अधिग्रहण से पहले लेने वाली मानक संचालन प्रक्रिया और प्रमुख सावधानियां।
    8. वर्तमान कानून का ज्ञान और अपराधों से संबंधित नीतियों का उपयोग, सी डी आर प्राप्त करने के लिए कानूनी प्राधिकरण की जानकारी।

बुनियादी बातों और प्रौद्योगिकी को अपराधदृश्य प्रबंधन मामले के माध्यम से समझाया गया है । मानक संचालन के साथ-साथ उपकरणों के परिदृश्य और प्रदर्शन / अनुकरण की प्रक्रिया की भी जानकारी दी गयी है


Estimated Effort: 8 Hours

उद्देश्य

उत्तरदाता अपराध स्थल पर रिपोर्ट करने वाले पहले कर्मी होंगे। ये शिकायत, अपराध स्थल, अपराध की प्रकृति, इसके तौर-तरीकों और इसमें शामिल तकनीक का आकलन करने वाले पहले अधिकारी हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इन अधिकारियों को विभिन्न साइबर अपराधों और उनके तौर-तरीकों के साथ-साथ अपराध स्थल को संभालने और भौतिक और डिजिटल साक्ष्य दोनों के संग्रह के बारे में जागरूक किया जाए।

इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य उत्तरदाताओं के लिए निम्नलिखित विषयों का मध्यवर्ती स्तर का ज्ञान प्राप्त करना है: -

    1. क्लाउड, SCADA, IOT और ड्रोन जैसी उन्नत तकनीकों का परिचय।
    2. इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य की स्वीकार्यता सहित आईटी अधिनियम और संबद्ध विधानों का परिचय।
    3. साइबर जांच जोखिमों सहित डिजिटल अपराधों को समझना।
    4. खोज, जब्ती, पैकिंग, अग्रेषण और दस्तावेज़ीकरण सहित घटना प्रतिक्रिया प्रक्रियाओं को समझें।
    5. डिजिटल साक्ष्य अधिग्रहण प्रक्रिया और प्रासंगिक क्या करें / क्या न करें।
    6. डिजिटल साक्ष्य को संभालने के लिए विभिन्न एसओपी को समझें।

इस पाठ्यक्रम के लिए पूर्वापेक्षा प्रत्युत्तर ट्रैक - मूल स्तर का पाठ्यक्रम है।


Estimated Effort: 6 Hours
यह कोर्स जल्द ही नामांकन के लिए उपलब्ध होगा।